2 Line Sad Shayari, Ek Tum Hi Mil Jate

एक तुम ही मिल जाते बस इतना काफ़ी था,
सारी दुनिया के तलबगार नहीं थे हम।

Ek Tum Hi Mil Jate Bas Itna Kafi Tha,
Sari Duniya Ke TalabGar Nahi The Hum.

TalabGar Nahi The Hum

💔😔💔

रोज ख्वाबों में जीते हैं वो ज़िन्दगी,
जो तेरे साथ हक़ीक़त में सोची थी कभी।

Roj Khwabon Mein Jeete Hain Wo Zindagi,
Jo Tere Saath Hakeeqat Mein Sochi Thi Kabhi.

Hakeeqat Mein Sochi Thi Kabhi

💔😔💔

वो खुद एक सवाल बन कर रह गया,
जो मेरी पूरी ज़िन्दगी का जवाब था।

Wo Khud Ek Sawaal Ban Ke Reh Gaya,
Jo Meri Poori Zindagi Ka Jabaab Tha.

Zindagi Ka Jabaab Tha

💔😔💔

ये तो न कह कि किस्मत की बात है,
मेरी बर्बादियों में तेरा भी हाथ है।

Yeh To Na Keh Ki Kismat Ki Baat Hai,
Meri Barbadiyon Mein Tera Bhi Hath Hai.

Tera Bhi Hath Hai

💔😔💔

खाते रहे फरेब संभलते रहे कदम,
चलते रहे जूनून का सहारा लिये हुए।

Khate Rahe Fareb Sambhalte Rahe Kadam,
Chalte Rahe Junoon Ka Sahara Liye Huye.

Junoon Ka Sahara Liye Huye

💔😔💔

Read More… 

Spread the love

Leave a Comment