Koi Zindagi Mein Aata Hai

नसीब बनकर कोई ज़िन्दगी में आता है,
फिर ख्वाब बनकर आँखों में समा जाता है,
यकीन दिलाता है कि वो हमारा ही है,
फिर न जाने क्यूँ वक़्त के साथ बदल जाता है।

Naseeb Ban Kar Koi Zindagi Mein Aata Hai,
Fir Khawab Ban Kar Aankhon Mein Samaa Jata Hai,
Yakeen Dilata Hai Ki Wo Hamara Hi Hai,
Fir Na Jaane Kyun Waqt Ke Sath Badal Jata Hai.

Waqt Ke Sath Badal Jata Hai

💔😞💔

जैसे जुल्फों की लट है चेहरे के करीब तेरे,
काश हम भी वैसे ही तेरे करीब होते,
तेरे फूलों से चेहरे को हरदम निहारते हम,
काश ऐसी किस्मत होती ऐसे मेरे नसीब होते।

Jaise Julfon Ki Latt Hai Chehre Ke Kareeb Tere,
Kaash Hum Bhi Waise Hi Tere Itne Kareeb Hote,
Tere Phoolon Se Chehre Ko Hardam Nihaarte Hum,
Kaash Aisi Kismat Hoti Aise Mere Naseeb Hote

Aise Mere Naseeb Hote

💔😞💔

उतना हसीन फिर कोई लम्हा नहीं मिला,
तेरे जाने के बाद कोई भी तुझ सा नहीं मिला,
सोचा करूँ मैं एक दिन खुद से ही गुफ्तगू,
लेकिन कभी मैं खुद को तन्हा नहीं मिला।

Utna Haseen Fir Koyi Lamha Nahi Mila,
Tere Jaane Ke Baad Koyi Bhi Tujh Sa Nahi Mila,
Socha Karoon Main Ek Din Khud Se Hi Guftgu,
Lekin Kabhi Main Khud Ko Tanha Nahi Mila.

Khud Ko Tanha Nahi Mila

💔😞💔

ज़ख्म सब भर गए बस एक चुभन बाकी है,
हाथ में तेरे भी पत्थर था हजारों की तरह,
पास रहकर भी कभी एक नहीं हो सकते,
कितने मजबूर हैं दरिया के किनारों की तरह।

Zakhm Sab Bhar Gaye Bas Ek Chubhan Baki Hai,
Haath Mein Tere Bhi Patthar Tha Hajaaro Ki Tarah,
Paas Rehkar Bhi Kabhi Ek Nahi Ho Sakte,
Kitne Majboor Hain Dariya Ke Kinaro Ki Tarah.

Dariya Ke Kinaro Ki Tarah

💔😞💔

Read More…

Spread the love

Leave a Comment