Bewafa Shayari in Hindi – हिन्दी में बेवफा शायरी 2 line

बेवफा शायरी एक भावनात्मक रूप है जो प्यार में धोखा खाने वालों की दर्दभरी कहानियों को व्यक्त करती है। ये शायरी में अक्सर एक अधूरे प्यार की कहानी, वादों का तोड़ और वफ़ा की कमी का दर्द अनुभव किया जाता है। इसमें दिल की गहराईयों से निकली हर बात और भाव छुपे होते हैं। बेवफ़ाई की अदाएं, तबाही की भावना, और खोया हुआ प्यार का दुख सभी इसमें सामिल होते हैं। 

 

Bewafa Shayari in Hindi

 

तेरी बेवफाई ने हमारा ये हाल कर दिया है,
हम नहीं रोते लोग हमें देख कर रोते हैं।

 

teri bewafai ne hamara ye haal kar diya hai
Bewafa shayari hindi image

 

तू बेवफा है, ये मेने अब जान लिया है,
दिल के दर्द को तूने बदनाम किया है।

 

tu bewafa hai ye maine ab jaaan liya hai
Bewafa shayari hindi image

 

दिल भी गुस्ताख हो चला था बहुत,
शुक्र है की यार ही बेवफा निकला। 

 

जिंदगी की राहों में मिलते हैं ये धोखेबाज,
दिल को लगा कर छोड़ गए, वादे किए वादे तोड़ गए।

 

zindagi ki raaho me milte hain
Bewafa shayari hindi image

 

मेरे दिल की धड़कनों को थामा था तुमने,
पर फिर भी तुम बेवफ़ा होकर चले गए।

 

mere dil ki dhadkano ko thama tha
Bewafa shayari in hindi image

 

अब कोई उम्मीद नहीं बची दिल में,
तुम तो बस एक बेवफ़ा ही निकले।

 

वो दिन याद आते जब तू कहती मोहब्बत है
अब वो दिन याद आते हैं जब तू बेवफा है।

 

अब तन्हाई के रास्तों पर चलते हैं हम,

तुम्हारे बेवफ़ाई के गहरे दरिया में बहते हैं हम।

 

ab tanhai ke raasto par chalte hain ham
Bewafa shayari in hindi image

 

कैसे गलत कह दूँ तेरी बेवफाई को,
यही तो है जिसने मुझे मशहूर किया है।  

 

तुम्हारी तो फितरत थी सबसे मोहब्बत करने की,
में बेवजह खुद को खुशनसीब समझने लगा। 

 

tumhari to fitrat thi sabse mohabbat karne ki

 

Sad Bewafa Shayari Hindi

 

एक बेवफा को हमने दिल में जगह दी थी,
ख़्वाबों की दुनिया अपनी उससे ही सजा दी थी। 

 

एक तेरा ही नाम था जिसे हज़ार बार था लिखा,
जिसे खुश हुए थे लिख कर, उसे मिटा मिटा के रोये।

 

वैसे तो इश्क़ उन्हें भी हो जाता मगर,
दौलत की आंधी चली तो ये मोहब्बत भी इकतरफ़ा हो गयी। 

 

क्यों इस तरह से मुझे अकेला छोड़ दिया
इतनी बुरी तरह मेरा दिल तोड़ दिया। 

 

याद वही आते हैं जो अक्सर दर्द देते हैं,
बनाकर अपना सफर में, अकेला छोड़ देते हैं।

 

एक बेवफा से मैंने प्यार किया,
दिल देकर उस पर एतेबार किया,
हमने तो समझ था उसे हम दर्द अपना,
मगर बनकर बेदर्द उसने, दिल पर मेरे वार किया।

 

ek bewafa se maine pyar kiya

 

ना पूछ मेरे सब्र की इंतेहा कहाँ तक हैं,
तू सितम कर ले, तेरी हसरत जहाँ तक हैं,
वफ़ा की उम्मीद, जिन्हें होगी उन्हें होगी,
हमें तो देखना है, तू बेवफ़ा कहाँ तक हैं।

 

जिनकी चैन से गुजरतीं हो रातें
वो हमसे बात क्या करेंगे
जिनके हो हजारो चाहने वाले
वो भला हमें याद क्या करेंगे। 

 

अगर दुनिया में जीने की चाहत ना होती,
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती,
लोग मरने की आरज़ू ना करते,
अगर मोहब्बत में बेवाफ़ाई ना होती।

 

agar duniya me jeene ki chahat na hoti

 

वफ़ा के नाम से मेरे सनम अनजान थे,
किसी की बेवफाई से शायद परेशान थे,
हमने वफ़ा देनी चाही तो पता चला,
हम खुद बेवफा के नाम से बदनाम थे।

 

Pehli Mohabbat Shayari | पहली मोहब्बत की शायरी का संग्रह

Mulakat Shayari: पहली, आखरी, अधूरी मुलाक़ात की शायरी

50+ Emotional Sad Shayari in hindi | इमोशनल सैड शायरी [New]

2 line Bewafa Shayari Hindi

 

चले जाने दो बेवफा को किसी और की बाहों में,
जो मेरा ना हो सका वो किसी और का क्या होगा।

 

chale jaane do bewafa ko

 

बेवफा वक़्त था, तुम थे, या मेरा मुकद्दर,
बात इतनी ही है कि अंजाम जुदाई निकला। 

 

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,
हर एक आंसू समंदर नज़र आता हैं,
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं।

 

ek ajeeb sa manjar nazar aata hai

 

मत ज़िकर कीजिये मेरी अदा के बारे में,
मैं बहुत कुछ जानता हूँ वफ़ा के बारे में,
सुना है वो भी मोहब्बत का शोक़ रखते हैं,
जो जानते ही नहीं वफ़ा के बारे में।

 

लम्हा लम्हा सांसें खत्म हो रही हैं,
जिंदगी मौत के पहलू में सौ रही है,
उस बेवफा से ना पूछो मेरी मौत की वजह,
वो तो ज़माने को दिखाने के लिए रो रही है।

 

पलकों के किनारे हमने भिगोये ही नहीं,
वो सोचते हैं कि हम रोये ही नहीं,
वो पूछते हैं कि सपनो मैं किसे देखते हो,
हम हैं कि इतने सालो से सोये ही नहीं।

 

दिल टूटेगा तो शिकायत करोगे तुम भी,
हम ना रहे तो हमे याद करोगे तुम भी,
आज कहते हो हमारे पास वक़्त नहीं हैं,
पर एक दिन मेरे लिए वक़्त बर्बाद करोगे तुम भी। 

 

जनाजा मेरा उठ रहा था,
तकलीफ थी उसको आने में,
बेवफा घर में बैठी पूछ रही थी,
और कितनी देर है इसको दफनाने में।

 

वो हमें भूल कर खुश हो पाएंगे,
साथ नहीं तो मेरे जाने के बाद मुस्कुराओगे,
दुआ है ईश्वर से की उन्हें कभी दर्द ना देना,
हमने सहन किया है लेकिन वे टूट जाएंगे।

 

दिल टूटने वाली बेवफा शायरी

 

नादान और नासमझ से कभी दिल ना लगाना,
वरना फालतू में पड़ेगा तुमको पछताना,
नहीं जानते वो प्यार की कीमत क्या होती है,
उनकी तो आदत ही होती है हर किसी से दिल लगाना।

 

बेवफ़ाई का दर्द है अनकहा,
कहने को कुछ भी नहीं रहा।
आँसू छलके, दिल रोता है,
कितना प्यार किया, ये उसे पता ही नहीं।

 

वो मेरे जज़्बात समझे या ना समझे,
मुझे उनकी हर बात पर विश्वास करना होगा,
हम इस दुनिया को छोड़ देंगे,
लेकिन वे हर रात आंसू बहाएंगे।

 

जब से तुम्हारी बेवफ़ाई मिली,
दिल ने अपना सहारा खो दिया।
प्यार करके हमें तुमने धोखा दिया,
वादा किया था, पर सच्चाई छोड़ दी।

 

उस इंसान के लिए आखिर कब तक रोता रहूँगा,
जो मुझे छोड़ कर किसी और के साथ खुश हैं।

 

प्यार में मेरा इस कदर टूटना तो लाजमी था,
काँच का दिल था और मोहब्बत पत्थर से की थी।

Spread the love

Leave a Comment